अमर शहीद भगत सिंह की जीवनी, भगत सिंह की बायोग्राफी,और इनका जीवन परिचय

इस आर्टिकल में हम आपको आज शहीद भगत सिंह का जीवन परिचय के बारे में बतायंगे जिन्होंने देश के लिए अपनी जान की क़ुरबानी थी उनकी जयंती हर साल 28 सितम्बर को मनाई जाती हैं।

भगत सिंह का सामान्य परिचय

भगत सिंह जो एक अच्छे वक्ता, एक अच्छे लेखक एवं अपने देश के प्रति  न्योछावर हो जाने वाले युवा थे जोहर हिंदुस्तानी के दिल में बसते हैं। महान शहीद भगत सिंह का जन्म लायलपुर जिले के बंगा नामक गांव में 27 सितंबर 1907 को हुआ था। भगत सिंह का जन्म स्थानलायलपुर जिला अब  पाकिस्तान का हिस्साहै। लेकिन भगत सिंह का पैतृक गांव खटकड़ कलांहै, जो इस  समय भारत के पंजाब में है।

अन्य पढ़े- गांधी जी का जीवन परिचय

नामभगत सिंह
जन्म27 सितंबर ,1907
जन्म स्थानबंगा
मां का नामविद्यावती
पिता का नामकिशन सिंह
शिक्षाD.A.V. हाई स्कूल, लाहौर।
विचारधाराराष्ट्रवादी व्यक्ति
मृत्यु23 मार्च 1931

भगतसिंह आजादी की लड़ाई में शामिल होने वाले एक आर्य समाज सिख परिवार के युवा थे। इनकी मां का नाम विद्यापति और पिता का नाम किशन सिंह था। भगत सिंह का विवाह नहीं हुआ था। विवाह का सुझाव देने  पर उन्होंने इसे अस्वीकार किया और कहा, “यदि मेरी शादी गुलाम भारत में हुई तो मेरी दुल्हन की मृत्यु हो सकती है।“इनके परिवार में भगत सिंह के चाचा आंदोलनकारी नेता थे, जिनसे प्रेरित होकर भगत सिंह ने भी अपने दिल में देशभक्ति की भावना जगाई।

शहीद भगत सिंह की शिक्षा दीक्षा

भगत सिंह ने अपनी कक्षा पांचवी तक की शिक्षा अपने ग्रामीण स्कूल से ही प्राप्त की। इसके बाद भगत सिंहने अपनी हाई स्कूल की शिक्षा के लिए डीएवी कॉलेज लाहौर में दाखिला लिया।कम उम्र में ही भगत सिंह महात्मा गांधी द्वारा चलाए जा रहे  असहयोग आंदोलन का हिस्सा बने। भगत सिंह एक ऐसे भारतीय युवा नेता थे जिन्होंने खुले तौर पर अंग्रेजी सिपाहियों को युद्ध के लिए ललकारा और ब्रिटिश सरकार द्वारा जारी की गई पुस्तकों को जलाकर गांधी नीतियों का पालन किया। भगत सिंह के युवावस्था को झकझोर देने वाले दो ऐसी घटनाएं , जिन्होंने उनके अंदर अथाह देश भक्ति और आजादी की भावना को विकसित किया :

  • 1919 में होने वाला कांड जलियांवाला बाग हत्याकांड।
  • 1921 में ननकाना साहिब में प्रदर्शनकारियों की हत्या।

क्रान्तिकारी गतिविधियों में भगत सिंह का योगदान

अपने जीवन के कुछ समय महात्मा गांधी का अनुसरण करने के बाद भगत सिंह उनके अहिंसक कार्यवाही से स्वयं को अलग करके एक क्रांतिकारी नेता के रूप में विकसित हुए। ब्रिटिश शासकों के प्रति हिंसक विद्रोह शुरू कर दिया जिसका परिणाम हमारे देश की आजादी है और हम सब इसके प्रत्यक्षप्रमाण। 1925 के मार्च में भगत सिंह राष्ट्रवादी आंदोलन से प्रेरित होकर नौजवान भारत सभा के गठन का निर्णय लिया। भगत सिंह कट्टरपंथी समूह हिंदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन में भी जुड़े तथा कुछ समय पश्चात अपने साथी चंद्रशेखर आजाद और सुखदेव के साथ हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के रूप में हिंदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन को आगे बढ़ाया। भगत सिंह बचपन से ही एक उत्साही पाठक एवं लेखक रहे हैं, यह फ्रेडरिक एंगेल्स और कार्ल मार्क्स के लेखन से प्रभावित होकर समाजवादी दृष्टिकोण को अपनाएं।

दुखद मृत्यु

ऐसा माना जाता है कि भगत सिंह, तथा उनके दो मित्र राजगुरु और सुखदेव अपने पसंदीदा नारे “इंकलाब जिंदाबाद” और “वंदे मातरम” का उच्चारण करते हुए 23 मार्च 1931 को सुबह के 7:30 बजे लाहौर के जेल में फांसी के फंदे को प्रसन्नता पूर्वक चूम लिया। भगत सिंह का अंतिम संस्कार सतलज नदी के तट पर बसे हुसैनीवाला में उनके साथियों के साथ ही किया गया था।

FAQ’s

Q: क्या भगत सिंह पाकिस्तान के निवासी थे?

Ans: भगत सिंह की मृत्यु के बाद भारत और पाकिस्तान का बंटवारा हुआ। इसके पूर्व पाकिस्तान एवं भारत एक सम्मिलित राष्ट्र थे। बंटवारे के बाद भगत सिंह का जन्म स्थान पाकिस्तान की भूमि में चला गया।

Q: भगत सिंह ने हिंसा वादी नीति क्यों अपनाई?

Ans: भगत सिंह का कहना था कि जब आक्रामक तरीके से कोई कानूनलागू किया जाए तो यह हिंसा है, और नैतिक रूप से अनुचित है। परंतु जब हम अपने द्वारा  चलाए जा रहे आंदोलनों का प्रयोग किसी वैध कारण से करते हैं तो यह नैतिक महत्व रखता है।

Q: 8 अप्रैल 1929 को भगत सिंह ने गिरफ्तारी क्यों दी?

Ans: 8 अप्रैल 1929 को एक अध्यादेश पारित‌‌ होने से रोकने के लिए भगत सिंह एवं उनके साथी बटुकेश्वर दत्त ने असेंबली के गलियारों में बम फेंका था । धमाके के बाद भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त दोनों ने अपनी गिरफ्तारी दे दी।

Q: भगत सिंह का जन्म कब हुआ और कहां हुआ

Ans: 28 September 1907, Banga, Pakistan

Q: भगत सिंह की मृत्यु कब और कैसे हुई

Ans: 23 मार्च 1931 को शाम करीब 7 बजकर 33 मिनट

Q: भगत सिंह को फांसी क्यों दी गई थी

Ans: लाहौर षड़यंत्र के आरोप में

Q: भगत सिंह को फांसी कहां दी गई

Ans: लाहौर सेंट्रल जेल में

Q: भगत सिंह की माता का नाम

Ans: विद्यावती

Q: भगत सिंह के पिता का क्या नाम था

Ans: सरदार किशन सिंह संधु

Q: भगत सिंह की उम्र कितनी थी

Ans: 23 years

Q: शहीद भगत सिंह जयंती कब है

Ans: 28 सितंबर

Leave a Comment

Bhagat Singh Biography in Hindi गणेश चतुर्थी कब है | गणेश चतुर्थी का महत्व Dream11 Se Paise Kaise Kamaye राष्ट्रीय मलेरिया दिवस क्यों मनाया जाता हैं – GyanTips Jio Phone Mein Hotstar Kaise Download Karen